Home Maa Shayari Maa hi hai joh har mandir me meri salamati | Maa Shayari

Maa hi hai joh har mandir me meri salamati | Maa Shayari

Maa shayari :- कोई भी इंसान अपनी maa के बारे में कभी भी सब कुछ नहीं लिख सकता है क्योकि maa के बारे में लिखना कोई आसान बात नहीं है। माँ कोई topic नहीं है , माँ एक समंदर है। माँ के pyaar को हम उसके पास होने पर नहीं समझ सकते है माँ का प्यार तब समझ आता है जब माँ हमारे पास नहीं होती है। हम बचपन से ये सोचते है कि माँ हमको कितना परेशान करती है, माँ हमे अपनी मर्ज़ी का काम नहीं करने देना चाहती है।

हम इंसान कि प्रवत्ति ही ऐसी है कि जो हमारे पास होता है उसकी हम कद्र ही नहीं करते है या जो हमे future में काम आने वाली होती है उसको हम गलत ही मानते है । इंसान पैसों कि value समझ सकता है पर इंसान अपने जीवन में माँ कि value नहीं समझ पाता है। हम कभी ये नहीं सोचते है कि maa हमारे लिए क्या – क्या करती है माँ हमारे लिए कितने दुख – दर्द देखती है। लोग बोलते है माँ हमसे प्यार करती है , परन्तु ये गलत है माँ हमे प्यार करती नहीं है माँ को हमसे प्यार है।

भगवान् हमारे साथ हर पल नहीं हो सकते , इसलिए भगवान् माँ को बनाया है। यह line बोलने में बहुत छोटी लगती है पर यह लाइन कि गहराई उतनी है जितनी समुद्र कि गहराई है। अगर हम गिनती करने बैठे कि माँ ने हमारे लिए क्या – क्या किया है तो हम गिन भी नहीं सकते कि माँ ने हमारे लिए क्या – क्या किया है।

कुछ लोगो का मानना है कि हम कौनसा अपनी माँ को परेशान करते है इसका यह मतलब नहीं है कि माँ को परेशान नहीं करने से हम उसके प्रति अपना कर्तव्य पूरा कर देते है। वैसे तो हमारी माँ ने जो हमारे लिए किया है उसका ऋण तो हम कभी नहीं चूका सकते है पर हम अपनी maa को हमारे लिए , जो कुछ किया उन सब के लिए thank you तो बोल ही सकते है।

आप हमारी maa shayari collection में बहुत अच्छी – अच्छी maa को dedicat shayari पढ़ने को पायेंगे , जिन को आप social media पर share भी कर सकते है ।

Mother Day Shayari In Hindi 

Mother Day Shayari In Hindi 

मेरी ख़ामोशी में भी हर एक लफ्ज़ को पहचानती है,
वह माँ ही है जोह हर मंदिर में मेरी सलामती की भीख मांगती है…

Meri khamoshi me bhi har ek lafz ko pahechanti hai,
Voh maa hi hai joh har mandir me
Meri salamati ki bheekh mangati hai…

अपने दिल के कुछ अरमान लिखता हु
दुनिया के लिए यह कुछ पैगाम लिखता हु,
और जिक्र हो सच्ची मोहब्बत का
तब उठता हूँ कलम और माँ लिखता हु….

Apne dil ke kuch arman likhata hu
Duniya ke liye yeh kuch paigam likhata hu,
Or Jikra ho sachhi mohabbat ka
Tab uthata hu kalam aur maa likhata hu…

दुनिया में सच्चा इश्क़ तो केवल माँ बाप ही करते है
बाकि सब तो इश्क़ का दिखावा करते है…

Duniya me sachha ishq to keval maa baap hi karate hai
baki sab to Ishq ka dikhawa karate hai…

कुछ दोस्तों की सकल पर आज दिन के सांप दिखते है,
की में अब अकेला ही अच्छा हो ,
मेरी ज़रूरतों को पूरा करने के लिए घर में माँ-बाप बैठे है…

Kuch dosto ki sakal par aaj din ke saap dikhate hai,
Ki me ab akela hi achha hu ,
Meri Zaroorato ko pura karne ke liye Ghar me Maa-baap bethe hai…

Letest 50+ Maa Shayari Huge of colletion in Hindi 

Maa shayari in hindi (2020)

Maa shayari in hindi (2020)

की है एक क़र्ज़ जोह सब पर सवार रहता है ,
की वोह माँ का प्यार है जनाब वोह सब पर जुड़ा रहता है…

Ki hai ek karz joh sab par sawar raheta hai ,
Ki voh maa ka pyaar hai janab voh sab par juda raheta hai…

किस्मत ने जोह लिखा है वोह मंजूर नही है मुझे,
में हाथों की लकीरों पर नहीं
अपने माँ-बाप के काहे रास्ते पर चलता हु….

Kismat ne joh likha hai voh manjoor nhi hai mujhe,
Me hathon ki lakiro par nhi
Apne maa-baap ke kahe rasto par chalata hu….

ऊपर जिसका अंत नहीं उसे आशमान कहते है;
जहाँ में जिसका अंत नहीं है उस ही को माँ कहते है…

Upar jiska ant nhi use Aashaman kahete hai;
Jaha me jiska ant nhi hai us hi ko maa kahete hai…

प्यार करना कोई तुमसे सीखे
तुम ममता की मूरत नहीं सब के दिल का टुकड़ा हो माँ...

Pyaar karna koi tumse sikhe,
Tum mamata ki murat nhi sab ke dil ka tukda ho maa…

मिसाल ऐसी बने कि सब देखते रहे जाये,
मुकाम ऐसा पाओ की सब दांग रहे जाये,
और जन्नत से ज्यादा सुकून तब मिलता है
जब बाप की पहचान तुम्हारे नाम से हो जाये…

Misal esi bano ki sab dekhate rahe jaye,
Mukam esa pao ki sab dang rahe jaye,
Or jannat se jayada sukoon tab milata hai
Jab baap ki pahechan tumhare naam se ho jaye….

Romantic Maa Shayari In Hindi (2020)

Romantic Maa Shayari In Hindi (2020)

माँ ने सब्जी में थोड़ा पानी मिलाया था,
परिवार बहुत बड़ा था उसका क्या खूब हिसाब लगाया था…

Maa ne sabji me thoda pani milaya tha,
Parivaar bahut bada tha uska kya khub hisaab lagaya tha…

सर पर हाथ फेर दे तोह हिम्मत मिल जाये,
माँ एक बार मुस्करा दे तोह जन्नत मिल जाये…

Sir par hath fer de toh himmat mil jaye,
Maa ek baar muskara de toh jannat mil jaye…

Final Words:-

जब हमारी maa हमारे पास होती है तो हम अपनी maa से छूट पाना चाहते है हमको क्या पता होता है कि यह छूट को पाने के लिए हमको क्या चूकाना पड़ सकता है।

एक maa ही होती है जो हमे अच्छे – बुरे का ज्ञान करवाती है , एक maa ही हो सकती है जो हमे इस दुनिया में समझ सकती है। ये line बिलकुल सही है कि maa को हम तभी समझ सकते है जब maa हमारे पास नहीं होती है। हमे तभी समझ में आता है कि किस छूट की हम सोच रहे थे , जो मिल भी गयी तो हम दुखी के दुखी ही है। अगर maa ही नहीं होगी तो ख़ुशी किस बात कि जिन की maa नहीं होती उनको पता चलता है कि माँ की क्या अहमियत होती है life में।

maa खुद भूखी रह कर हमे पहले खाना खिलाती है , maa को ही पता होता है कि कौन – सी चीज़ हम पर अच्छी लगेगी। जब maa हमारे सर पर हात फेरती है वो अहसास दुनिया का सब से अच्छा अहसास होता है।

हमारा maa shayari collection को dedicated है इस collection को आप instagram , facebook , whatsapp सभी पर अपने friends और family members को share कर सकते हो। इन shayari को आप अपनी maa को सुना कर thanks बोल सकते हो। आपको हमारा collection कैसा लगा हमें comment कर के जरूर बताये।

REVIEW OVERVIEW

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

880FollowersFollow
250FollowersFollow
455FollowersFollow

Popular Shayari