Home Dosti Shayari  Dosti ek khushi hoti hai joh do anajane | Dosti shayari

 Dosti ek khushi hoti hai joh do anajane | Dosti shayari

Dosti shayari :- हम जिस व्यक्ति पर निर्भर हो जाते है उसे हम अपना दोस्त समझते है | हम यह लगता है कि वह व्यक्ति हमारा फ्रेंड है परन्तु क्या वो सच में हमारा फ्रेंड है ? ऐसा हम समाज के हिसाब से बोले तो वह व्यक्ति हमारा फ्रेंड साबित हो सकता है परन्तु यह बात है जो आज के समय कि हो रही है |

पहले के समय कि बात करे तो दोस्ती का अर्थ अलग ही होता था और दोस्ती के मायने ही अलग होते थे | अब दोस्ती का अर्थ यही निकल कर आता है कि दो व्यक्ति आपस में मिल – जुल लिए और एक दूसरे से हँस कर बात कर ली तो उसको दोस्त समझते है | दोस्ती का सबसे बढ़ा कारण यह हो गया है कि एक व्यक्ति को दूसरे व्यक्ति से कुछ काम होता है तो उस व्यक्ति से दोस्ती कर लेता है और अपने काम को पूरा करवा लेता है |

- Advertisement -

यह किसी एक व्यक्ति के द्वारा नहीं किया जाता है यह प्रवृत्ति आज के समय में सभी लोग दिखाते है यहाँ तक यह प्रवृत्ति में भी अपनाता हूँ | यह सभी जो बाते मैंने बताई है इनमे से एक भी बात सच्ची दोस्ती से जुडी हुई नहीं है | एक सच्ची दोस्ती की बात करे तो इस शब्द को ही सुन कर ही सुकून की प्राप्ति होती है ऐसा लगता है जैसे किसी ने हमारे बारे में बात की हो और हमे कुछ अच्छी बाते बोली हो |

अगर आपके दोस्त के साथ आपका कुछ अलग ही रिश्ता है तो आपको उसको एक अच्छी जरूर सुनानी चाहिए | आपको हमारी website पर dosti shayari की एक अच्छी collection देखने को मिलेगी जिसको आप share भी कर सकते है |

Dosti Shayari

 Dosti Shayari

दोस्ती एक खुशी होती है,
जो दो अनजाने लोगो को पास लाती है,
जो हर पल साथ दे वही दोस्त कहलाता है ,
वरना तो आपका साया भी साथ छोड़ जाता है.

- Advertisement -

 Dosti ek Khushi Hoti Hai,
Joh Do anajane Logo Ko Pass Laati Hai,
Jo Har Pal Sath De Vahi Dost Kahelata Hai,
Varna Toh Aapka Saya Bhi Sath Chod Jata Hai…

ज़िन्दगी के कुछ सवालो से डर लगता है,
ज़िन्दगी में दिल के टूटने से डर लगता है,
ज़िन्दगी में एक सच्चा दोस्त तो मिल पाना मुश्किल होता है,
पर एक सच्चे दोस्त को खोने से डर लगता है।

Zindagi ke kuch sawalo se dar lagata hai,
Zindagi me dil ke tootane se dar lagata hai,
Zindagi me ek sachha dost toh mil pana muskil hota hai,
Par ek sachhe dost ko khone se dar lagata hai…

Shayari on Dosti

अगर प्यार दिल से किया गया हो तो वो दिल को छू लेता है,
और कुछ न कही बात भी दिल को कुछ कह देती है,
कुछ लोग तो दोस्ती का मतलब ही बदल देते है,
और कुछ की तो दोस्ती से ही ज़िन्दगी बदल जाती है।

Agar Pyaar Dil Se Kiya Gya Ho To Voh Dil Ko Chu Leta Hai,
Aur Kuch Na Kahi Baat Bhi Dil Ko Kuch Kah Deti Hai,
Kuch Log Toh Dosti Ka Matlab Hi Badal Dete Hai,
Aur Kuch Ki Toh Dosti Se Hi Zindagi Badal Jaati Hai…

ज़िन्दगी इतिहास फिर नही दोहराती,
हर पल हर मोड़ पर है दोस्तों की याद आती,
ज़िन्दगी दोस्ती के प्यार में है गुम हो जाती,
उस प्यार को सोच कर हमारी आँखे हैं नम हो जाती।

Zindagi Itihash Fir Nhi Doharati,
Har Pal Har Mod Par Hai Dosto Ki Yaad Ati,
Zindagi Dosti Ke Pyaar Me Hai Gum Ho Jaati,
Us Pyaar Ko Soch Kar Hamari Aankhen Hai Nam Ho Jaati…

Hindi Shayari Dosti

- Advertisement -

Hindi Shayari Dosti

अच्छा और सच्चा दोस्त दिल है,
जिसे हम तोड़ भी नही सकते,
और अकेला छोड़ भी नही सकते,
अगर तोड़ लिया तो भूल जायेगा,
और छोड़ दिया तो कोई और ले जायेगा।

Achha Or Sachha Dost Dil Hai,
Jise Ham Tod Bhi Nhi Sakate,
Or Akela Chod Bhi Nhi Sakate,
Agar Tod Liya To Bhul Jayega,
Aur Chod Diya Toh Koi Aur Le Jayega…

New 50+ Letest Dosti Shayari in Hindi ( 2020 )

ज़िन्दगी के सारे दर्द क्यों बाँट लेते हैं दोस्त,
क्यों ज़िन्दगी में साथ देते हैं दोस्त,
रिश्ता तो सिर्फ उनसे दिल का होता है जी,
फिर भी क्यों हमे अपना मान लेते हैं दोस्त।

Zindagi Ke Sare Dard Kyon Baant Lete Hai Dost,
Kyon Zindagi Me Sath Dete Hai Dost,
Rishata Toh Sirf Unse Dil Ka Hota Hai Ji,
Fir Bhi Kyon Hame Apna Maan Lete Hai Dost…

Dosti Shayari in Hindi 

जब दोस्ती सच्ची और अटूट होती है,
तो उसे जताने की ज़रूरत नही होती है,
दोस्त से दूरी नहीं होती ,
उसे पास लाने की कभी ज़रूरत नही होती।

Jab Dosti Sachhi Aur atoot Hoti Hai,
Toh Use Jatane Ki Zaroorat Nhi Hoti Hai,
Dost Se Duri Nhi Hoti,
Use Paas Lane Ki Kabhi Zaroorat Nhi Hoti….

खुशियों की परछाइयों का नाम है जिंदगी,
परेशानियों की गहराईओं का नाम है जिंदगी,
एक प्यारा सा दोस्त है हमारा यहाँ,
उसकी प्यारी सी खुशी का नाम है जिंदगी।

Khushiyon Ki Parachaiyo Ka Naam Hai Zindagi,
Pareshaniyo Ki Gaheraiyo Ka Naam Hai Zindagi,
Ek Pyaara Sa Dost Hai Hamare Yaha,
Uski Pyaari Si Khushi Kaa Naam Hai Zindagi….

Freindship Shayari

Freindship Shayari

तू मिला नही है हमसे पर पास भी है, हमे तुझसे दुरी का अहसास भी है,
दोस्त तो हमारे लाखों हैं इस जहाँ में, पर तू कमीना भी है और खास भी है।

Tu Mila Nhi Hai Hamse Par Pass Bhi Hai, Hame Tujhse Duri Ka Ahesaas Bhi Hai,
Dost Toh Hamare Lakho Hai Is Jahan Me, Par Tu Kamina Bhi Hai Aur Khash Bhi Hai…

चाँद से दूरी एक रात तक है, सूरज से दूरी बस दिन तक है,
हम दोस्ती में वक़्त नहीं देखते, क्यूंकि हमारी दोस्ती की हद हमारी आखिरी साँस तक है।

Chand Se Duri Ek Raat Tak Hai, Suraj Se Duri Bas Ek Din Tak Hai,
Ham Dosti Me Vakat Nhi Dekhate Kyunki,
Hamari Dosti Ki Had Hamari Akhiri Sansh Tak Hai…

Beautiful Dosti Shayari

दोस्ती का वो समय याद आता है, मेरी आँखों को भर जाता है,
तेरी – मेरी दोस्ती सदा जिंदा रहे, यही हमारा दिल चाहता है।

Dosti Ka Voh Smay yaad aata hai meri aankhon ko bhar jata hai,
Teri meri dosti sada zinda rahe yahi hamara dil chahata hai…

ज़िंदगी में बहुत गम है , पर हर कोई सहारा अपना नहीं होता,
ज़िंदगी में बहुत दोस्त हैं, पर हर कोई ख़ास हमारा नहीं होता,
पर जब से आप जैसा दोस्त मिला है,
और किसी को ख़ास बनाना गवारा नही होता।

Zindagi me Bahut Gam Hai Par Har Koi Sahara Apna Nhi Hota,
Zindagi Me Bahut Dost Hai Par Har Koi Khash Nhi Hota,
Pat Jab se aap Jaisa Dost Mila Hai,
Aur Kisi Ko Khash Banana Gawara Nhi Hota…

Final Words:- 

आपने देखा ही होगा कि पहले कि दोस्ती और आज कि दोस्ती में बहुत अंतर पैदा हो गया है | आपको पता ही होगा श्रीकृष्ण और अर्जुन के बारे में महाभारत में किस प्रकार श्रीकृष्ण ने अर्जुन कि मदद एक सारथी के रूप में कि थी | परन्तु उनके बीच में जो सम्बन्ध था वो कोई सारथी के जैसा नहीं था उनके बीच का सम्बन्ध तो दोस्तों के जैसा था जिसमे स्वार्थ जैसा कुछ भी नहीं होता है |

दोस्ती में एक – दूसरे कि मदद तो कर सकते है परन्तु कोई एक दूसरे पर आश्रित नहीं हो सकता है , यही बात श्रीकृष्ण ने अर्जुन को बताई थी | जब अर्जुन ने श्रीकृष्ण को बोला था कि आपको सब पता है भूतकाल से भविष्यकाल का पता है तो आप इस युद्ध को समाप्त क्यों नहीं करवाते | इस बात को जब अर्जुन ने बोला तो उनके स्वभाव से श्रीकृष्ण पर आश्रित होना साफ़ झलक रहा था परन्तु श्रीकृष्ण ने एक दोस्त होने के नाते अर्जुन को समझाया |

जिससे पता चलता है कि एक अच्छा दोस्त कि पहचान क्या होती है | इसी प्रकार जब श्रीकृष्ण से सुदामा ने दोस्ती का मतलब पूछा तो श्रीकृष्ण ने हँस कर जवाब दिया कि जहाँ पर मतलब होता है वहाँ दोस्ती कहा होती है | हमे भी श्रीकृष्ण से दोस्ती के सदंर्भ में सीख लेनी चाहिए | अगर आपकी भी दोस्ती श्रीकृष्ण और सुदामा के जैसी है तो आपको हमारी dosti shayari जरूर पसंद आएगी और आप हमारी शायरी को instagram , whatsapp , facebook पर share भी कर सकते है |

- Advertisement -

REVIEW OVERVIEW

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
880FollowersFollow
250FollowersFollow
455FollowersFollow

Popular Shayari